“वो यार हैं इक शीशे का”…

😇”पत्थरों की इस दुनिया में, कारोबार हैं इक शीशे का… वो सच भी उसीको दिखाता, जो यार हैं उस शीशे का…”😊💫 “कांच से बने इस पुतले की, जिंदगी नही दूर चलती है… कहते है वो जिंदगी जिसे, चार दिन की होती जो खुमारी है…”😇🙌 “बन ठणके निकला जो, हर कोई करके ऐतबार… चाहे ना चाहे […]

Read More “वो यार हैं इक शीशे का”…